श्री त्रिमूर्तिधाम बालाजी हनुमान मंदिर

समाचार

।। जय सिया राम ।। 

 

पर्व श्री परमज्योति प्रकट दिवस (31-08-2016) श्री त्रिमूर्तिधाम, कालका में सभी भक्तो ने इस दिन को सेवा भाव से मनाया। प्रातः से कार्यक्रम शरू हो गए थे।  पहले महा विष्णु जी का अभिषेक हुआ, फिर पताकारोपण हुआ पुराने पताकाओं के साथ 5 नयी पताका लगायी गयी। मध्यान 12:30 बजे भंडारा प्रारम्भ कर दिया गया। सभी अतिथियों एवं अन्य भक्तजनों ने भंडरा ग्रहण किया। भंडारा सांय काल तक चलता रहा। शाम को सेवादल भक्तों ने एक साथ प्रसाद ग्रहण किया। 

रामचरित्रमानस पाठ, बालाजी का अभिषेक और रात्रि कृतं का भी आयोजन 30-08-2016 को किया गया। 

 

।। जय सिया राम ।। 

।। जय सिया राम ।।

पर्व श्री कृष्ण जन्माश्टमी एंव श्री महाकाली जयन्ती (24-08-2016) को हर्ष के साथ मनाया गया।

मंदिर को, श्री कृष्ण जी के झूले को फूलमाला से सजाया गया। श्री जागरण रात्रि 9:00 बजे शरू हुआ सभी भक्तजन ने जय सिया राम धुन का बहुत आनंद उठाया।

श्री कृष्ण पूजन रात्रि 11:16 बजे हुआ और बाद में श्री काली पूजन रात्रि 12 बजे हुआ।

अंत में श्री फलाहार रात्रि 1 बजे के साथ भक्त हर्षोउल्लास के साथ वापिस घर चले गए।

।। जय सिया राम ।।

।। जय सिया राम।। 

श्री भृगु जयंती और रक्षाबंधन की सभी को शुभकामनाये। 

 पर्व पूर्ण सादगी के साथ मनाया गया। श्री भृगुजी का पूजन अर्चन गुरुजी के द्वारा हुआ। संगव 10 बजे सहभोज में सभी भक्तजन ने मिलकर भोजन प्रसाद का आनंद लिया। 

।। जय सिया राम।।  

॥ जय सिया राम ॥ 

गुरु पूर्णिमा का महान पर्व सभी शिष्यों ने मिलकर धूम धाम से मनाया। 

पर्व की शुरुवात प्रातः 7:30 बजे श्री बालाजी के अभिषेक, 8:30 बजे श्री अमरेश्वर जी के अभिषेक, 10 बजे श्री भृगु जी के पूजन से हुई। सभी के अभिषेक एवं पूजन गुरु रूप में किये गए। सभी शिष्यों ने फल, फूल, मिष्ठान व वस्त्र भेंट किये।

सभी पूजन के उपरांत 11 बजे सभी शिष्यों ने मिलकर गुरुदेव व गुरुमाता का पूजन अर्चन किया। श्री प्रेतराज जी हाल में सभी के बैठने की व्यवस्था की गयी, गुरुदेव व गुरुमाता का आसन फूलों द्वारा सजाया गया, फिर सभी शिष्यों ने मिलकर फल, फूल, मिष्ठान, वस्त्र व द्रव्य से उनका पूजन अर्चन श्रद्धा पूर्वक किया। जिसके उपरांत गुरुदेव ने प्रवचन व आशीर्वाद दिया और सभी भक्तों को भण्डारे में सेवा में जाने की आज्ञा दी।

मध्यान 12:30 बजे भंडारा प्रारम्भ कर दिया गया। सभी अतिथियों एवं अन्य भक्तजनों ने भंडरा ग्रहण किया। भंडारा सांय काल तक चलता रहा। शाम को सेवादल भक्तों ने एक साथ प्रसाद ग्रहण किया, प्रसाद ग्रहण करने से पहले सभी ने गायत्री मंत्र का पाठ किया। 

॥ जय सिया राम ॥ 

21-22 मई को श्री त्रिमूर्तिधाम में पर्व श्री बुध पूर्णिमा बड़ी हर्ष उल्लास के साथ मनाई गयी।

 

२१ मई को श्री रामचरित मानस पाठ एवं श्री जागरण का आयोजन हुआ। सभी भक्तो ने पूर्ण हर्ष से जय सिया राम का पाठ कर जागरण किया।

 

अगले दिन २२ मई को भंडरा का आयोजन हुआ, जिस में १० प्रकार के व्यंजन शामिल थे।

॥ हर हर महादेव॥

पर्व श्री श्रावण शिवरात्रि पूर्ण भक्तिभाव व शिव अभिषेक से मनाया गया। (31.07.16 - 02.08.16)

31 जुलाई  श्री रामचरित मानस पाठ का आयोजन हुआ।

अगले दिन 1 अगस्त प्रातः 7 बजे श्री अमरेश्वर जी (शिव जी) के पूजन से आरंभ हुआ। दूध, दही, गंगाजल, के साथ प्रभु का अभिषेक और साथ ही 24 घंटे का अखंड दूध अभिषेक प्रारम्भ हो गया। सभी भक्त एक एक घंटे के अंतर पर भोलेनाथ का अभिषेक करते रहे। रात्रि को श्री जागरण में सभी भक्तजन शिवजी का पाठ करते रहे। 

अगले दिन 2 अगस्त प्रातः 5 बजे श्री त्रिमूर्तिधाम में उपस्थित सभी शिवलिंग और अमरेश्वर जी का पूजन व भव्य अभिषेक दूध, दही, शकर, घी, गंगाजल, विभिन्न फलों के साथ अभिषेक हुआ जिसमें सभी भक्तो ने भाग लिया, और आरती व प्रसाद के साथ सम्पूर्ण हुआ।  

संगव 11 बजे बालाजी की भव्य पालकी निकाली गई। मंदिर की परिक्रमा करते हुए भंडारा हॉल में पहुंची जहां राम नाम संकीर्तन हुआ और श्री बालाजी को, भंडारे के, विभिन्न व्यंजनो का भोग श्री गुरू जी द्वारा समर्पित किया गया। तद उपरांत सभी अतिथियों एवं अन्य भक्त जनों ने भंडरा ग्रहण किया। भंडारा सांय काल तक चलता रहा।

॥ जय सिया राम ॥

 


॥ जय सिया राम ॥ 

संस्थापना दिवस श्री त्रिमूर्तिधाम का पर्व बहुत हर्ष उल्लास से मनाया गया। 

विभिन्न कार्यक्रम का आयोजन हुआ। 

24 जून को अखण्ड श्री रामायण पाठ और रात्रि में श्री बालाजी का अभिषेक एवं सहस्त्र दीपदान भक्तों दवारा बनाए गए दीयों के साथ हुआ। 

25 जून को पताकारोपण किया गया और बालाजी की भव्य पालकी निकाली गई। मंदिर की परिक्रमा करते हुए भंडारा हॉल में पहुंची जहां राम नाम संकीर्तन हुआ और श्री बालाजी को, भंडारे के, विभिन्न व्यंजनो का भोग श्री गुरू जी द्वारा समर्पित किया गया। तद उपरांत सभी अतिथियों एवं अन्य भक्त जनों ने भंडरा ग्रहण किया। भंडारा सांय काल तक चलता रहा। 

शाम को सेवादल भक्तों ने एक साथ प्रसाद ग्रहण किया, प्रसाद ग्रहण करने से पहले गुरूजी ने गायत्री मंत्र का पाठ करवाया। 

॥ जय सिया राम ॥ 

9 मई को श्री त्रिमूर्तिधाम में पर्व अक्षय तृतीया, श्री मातङगी जयन्ती, श्री शुक्र जयन्ती, श्री परशुराम जयन्ती, पूर्ण श्रद्धा एवं उल्लास से मनाया गया।

8 मई को श्री रामचरित मानस पाठ एवं श्री जागरण आयोजन हुआ। अगले दिन 9 मई को दोपहर 12:30 बजे से श्री भण्डारे का आयोजन किया गया, जिसमें भारी संख्या में भक्तजनों ने भाग लिया।

आगामी मुख्य कार्यक्रम

पर्व:- श्री प्रेतराज जयन्ती

जनवरी
मंगलवार
23
श्री प्रेतराज जयंती | रथ सप्तमी | आरोग्य सप्तमी
23-01-2018
श्री राम चरित्र मानस पाठ प्रारम्भ प्रातः 9 बजे।
24-01-2018
श्री सुन्दरकाण्ड पाठ संगव 10 बजे ।
मध्यान 12:30 बजे से भण्डारा है।

पर्व:- श्री महाशिवरात्रि

फरवरी
सोमवार
12
12-02-2018
श्री राम चरित मानस अखण्ड पाठ प्रारम्भ प्रातः 9 बजे।
13-02-2018
श्री अमरेश्वर लिंगार्चन व् अखण्ड अभिषेक प्रारम्भ प्रात: 7:30 बजे।
श्री पताका रोपण मध्यान 12 बजे।
श्री औषधी सायं 7 बजे।
श्री जागरण रात्री 8 बजे से
14-02-2018
श्री औषधी प्रातः सूर्योदय पर।
श्री भण्डरा प्रारम्भ मध्यान 12:30 बजे।

मुख्य समाचार

पर्व:- श्री प्रेतराज जयन्ती

03 फरवरी 2017

पर्व श्री प्रेतराज जयन्ती, श्री त्रिमूर्तिधाम में 2 फरवरी को बड़ी हर्षोलास के साथ मनाया गया। 


Download our Android AppDownload our Calendar in PDF for OfflineSubscribe to our Google Calendar for Complete Hindi Samvat CalendarClick here and feel to write us